Wednesday, January 7, 2015

ये अक्षरा हैं, इनका सपना था अमिताभ

  जब आई-नेक्स्ट देहरादून आॅफिस में सारिका जी गेस्ट एडिटर के रूप में खबरों की चर्चा कर रहीं थीं, अक्षरा चुपचाप सुन रहीं थीं। बाद में उन्होंने भी अखबारी दुनिया के प्रति अपनी सोच को साझा किया था।

ये अक्षरा हैं। वर्ष 2009 में मम्मी सारिका जी के साथ देहरादून आर्इं थीं। विशेष रिक्वेस्ट पर सारिका जी ने आई-नेक्स्ट का गेस्ट एडिटर बनना स्वीकार किया था। अक्षरा भी आॅफिस आर्इं थीं। सारिका जी में तो गजब का सेंस आॅफ ह्यूमर था ही, बेटी अक्षरा में भी कांफिडेंस कूट-कूट कर भरा था। अक्षरा के नाम के आगे मैं उनका सर नेम ‘हासन’ इसलिए नहीं लगा हूं, क्योंकि उन्हें अपने सर नेम से लगाव नहीं था। लगाव क्यों नहीं है, यह एक पारिवारिक और बेहद ही निजी मामला हो सकता है। पर इतना सार्वजनिक जरूर है कि सारिका और कमल हासन व्यक्तिगत कारणों से अलग हो चुके हैं। अक्षरा कमल हासन की ही संतान हैं। अक्षरा की चर्चा इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि आज मल्टी स्टारर फिल्म शमिताभ का ट्रेलर लांच हुआ है। डायरेक्टर आर बाल्की की यह फिल्म काफी धमाल माचाएगी, ऐसा फिल्मी पंडित कह रहे हैं। फिलहाल इतना जरूर है कि शमिताभ के लिए अक्षरा ने जबर्दस्त मेहनत की है। निर्देशक आर बाल्की तो उन्हें नेक्स्ट बिग थिंक भी कह चुके हैं। 2009 में जब अक्षरा से मुलाकात हुई थी तो मजाक-मजाक में ही पूछ लिया था कि आप भी मम्मी सारिका और बहन श्रुति हासन की तरह फिल्मों में आएंगी क्या? गजब कांफिडेंस से अक्षरा का जवाब था, देखिए फिल्मों में आऊंगी या नहीं, यह तो वक्त तय करेगा, पर इतना जरूर है जिस फिल्म में अमिताभ बच्चन काम
करेंगे, उसी में काम करूंगी। अब यह महज संयोग है या कुछ और पर आज अमिताभ बच्चन के साथ उन्हें खड़ा देखकर इतना जरूर कह सकता हूं कि सपने कभी छोटे मत देखो। देखो तो बड़ी देखो और उसे पालने का माद्दा भी रखो। अक्षरा को उनका सपना पूरा होने पर ढेर सारी बधाई।
Post a Comment